रामबन विस्फोट मामले में 2 आतंकी गिरफ्तार; 50 हजार रुपये लेने की बात स्वीकारी, मोबाइल डेटा की हो रही जांच

 रामबन विस्फोट मामले में 2 आतंकी गिरफ्तार; 50 हजार रुपये लेने की बात स्वीकारी, मोबाइल डेटा की हो रही जांच

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने रामबन जिले में पुलिस चौकी पर विस्फोट करने के मामले में दो आतंकियों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान वार्ड नंबर 4 के शाह दीन पडियार और महाकुंड के मोहम्मद फारूक के रूप में हुई है। एसपी मोहिता शर्मा ने कहा कि दहशतगर्दों ने हमले को अंजाम देने की बात कबूल कर ली है।
पुलिस अधिकारी ने कहा कि पूछताछ के दौरान मोहम्मद फारूक ने एक व्यक्ति से 50,000 रुपये लेने की बात स्वीकार की, जिसने उन्हें इलाके में पुलिस और सुरक्षा बलों पर हमला करने का काम दिया था। उन्होंने बताया कि फारूक को पैसे देने वाले व्यक्ति की पहचान अभी नहीं हो पाई है। फारूक के पास से उसके मोबाइल फोन की दो सिम के अलावा तीन अन्य सिम कार्ड भी मिले हैं।
मोबाइल फोन के डेटा को खंगालने का काम जारी
ऑफिसर ने बताया कि पुलिस की इलेक्ट्रॉनिक निगरानी टीम इन पांच सिम कार्डों और मोबाइल फोन के सभी डेटा को खंगालने का काम कर रही है। दोनों आतंकवादियों पर गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि गिरफ्तार आतंकवादियों को नकदी मुहैया कराने वाले व्यक्ति की पहचान का पता लगाने के बाद और गिरफ्तारियां हो सकती हैं।
आतंकवाद मुक्त घोषित था यह इलाका
गौरतलब है कि गुल इलाके के इंड गांव स्थित पुलिस चौकी पर दो अगस्त को अज्ञात आतंकवादियों ने विस्फोटक फेंका था, जिसमें दो पुलिसकर्मी मामूली रूप से घायल हो गए थे। इस इलाके में बीते एक दशक में इस तरह की यह पहली घटना थी, जबकि इलाके को आतंकवाद मुक्त घोषित किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share