शिक्षा के नाम पर दिल्ली की केजरीवाल सरकार बेवकूफ बना रही है : भाजपा

 शिक्षा के नाम पर दिल्ली की केजरीवाल सरकार बेवकूफ बना रही है : भाजपा

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा की दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की टिकरी अपने विज्ञापन में दावा करते हैं कि हमने दिल्ली की स्कूली व्यवस्था बदलकर विश्वस्तरीय बना दिया है लेकिन अब खुद दिल्ली सरकार ही मान रही है कि दिल्ली के स्कूलों में बहुत ही कमियां हैं। संबित पात्रा ने कहा कि दिल्ली आम आदमी की सरकार ढोल नगाड़े लेकर स्कूल में वर्ल्डस्तर के व्यवस्था के बारे में बोलते हैं। संबित पात्रा ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने एक प्रोपगेंडा के तहत दिल्ली के स्कूलों को विश्व के सबसे अच्छे स्कूल बताने में दिन रात लगे रहते हैं। मनीष सिसोदिया के शिक्षा विभाग ने पीडब्ल्यूडी विभाग के कार्यपालक अभियंता को एक पत्र लिखा है. इस पत्र ने दिल्ली के स्कूलों की पोल खोल करके रख दी  है। संबित पात्रा ने कहा कि दिल्ली के स्कूलों के भवन निर्माण में भ्रष्टाचार की शिकायत करते हुए पीडब्ल्यूडी के कार्यपालक अभियंता को लिखे गए इस पत्र में स्कूलों में लीकेज, सैनिटेशन, बिजली, पेयजल आदि की व्यवस्क्था में भारी गड़बडी का जिक्र किया गया है कई स्कूलों के भवन खास्ता हाल स्थिति में हैं ।संबित पात्रा ने कहा कि दिल्ली सरकार ने स्कूलों की व्यवस्था को बेहतरीन करने का दावा किया था, लेकिन दस्तावेज के माध्यम से अरविन्द केजरीवाल सरकार की एक और सच्चाई खुलकर सामने आ गई है। संबित पात्रा ने कहा कि दिल्ली के जहांगीर पुरी, सकरपुर आदि कई जगहों पर स्थित स्कूल के निर्माण कार्यों में भ्रष्टाचार हुआ है। ये स्कूल भवन कभी भी गिर सकते हैं। एक स्कूल में तो जल रखने के लिए टंकी की व्यवस्था तक नहीं है।  अशोक नगर स्थित एक स्कूल की शिकायत है कि निर्माण कार्य में निम्न स्तर का सामान इस्तेमाल किया गया है। शिक्षा विभाग खुद पत्र लिख रहा है कि स्कूलों के भवन आदि निर्माण में भ्रष्टाचार हुआ है। वहीं, मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल खुद अपने स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन को भ्रष्ट नहीं होने का प्रमाण लगातार दे रहे हैं । संबित पात्रा ने कहा कि ध्यान रहे, सत्येन्द्र जैन पीडब्ल्यूडी विभाग भी संभालते हैं। स्कूलों में निम्नस्तर के मैटिरियल इस्तेमाल किया जा रहा था। इसके बावजूद, सत्येन्द्र जैन को अरविन्द केजरीवाल जी लगातार क्लीन चिट देते आ रहे हैं। संबित पात्रा ने कहा कि यह चिंता का विषय है। अरविन्द केजरीवाल और मनीष सिसोदिया वर्ल्ड क्लास एजुकेशन की बात करते रहते हैं. शिक्षा क्षेत्र में जहां इन्हें प्राथमिकता के साथ कार्य करने की जरुरत थी वहीँ ये लोग दिन रात सिर्फ प्रोपगेंडा फ़ैलाने का काम करते रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share