भाजपा नेता इंदु वर्मा ने कांग्रेस का हाथ थामा

 भाजपा नेता इंदु वर्मा ने कांग्रेस का हाथ थामा

हिमाचल भारतीय जनता पार्टी को बड़ा झटका लगा क्योंकि भाजपा नेता इंदु वर्मा ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। इंदु वर्मा हिमाचल प्रदेश की राजनीति में इनके परिवार का बहुत बड़ा हाथ रहा है। इंदु शर्मा के पति राकेश शर्मा हिमाचल प्रदेश के जाने-माने नेता की ओर से इस बार के विधायक रह चुके थे, जिनकी 2020 में असमय मृत्यु हो गई थी। इंदु बर्मा का परिवार पूरे शिमला जिला में बहुत बड़ा प्रभाव है। इंदु वर्मा के ससुर डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस थे । कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने इंदु वर्मा को कांग्रेस पार्टी की सदस्यता दिलाते हुए कहा कि बड़ी खुशी की बात है कि इंदु वर्मा कांग्रेस पार्टी में आकर गरीब जनता की सेवा करना चाह रही है। राजीव शुक्ला ने कहा कि इंदु बर्मा का परिवार हिमाचल सहित पूरे शिमला में राजनीतिक रूप से बहुत ही सक्रिय रहे इसी वजह से इंदु वर्मा स्वयं भी राजनीति में सक्रिय रही। इंदु वर्मा भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा  हिमाचल प्रदेश में 2 बार डिस्ट्रिक्ट महिला मोर्चा की प्रेसीडेंट भी रही, जिला परिषद की दो बार मेंबर चुनी गई। फैमिली एंड चाइल्ड वेलफेयर बोर्ड की अध्यक्ष थीं और हिमाचल प्रदेश में 20 सालों से महिला जागरूकता मंच और  एक बहुत अच्छा एनजीओ चलाती हैं। राजीव शुक्ला ने कहा कि इंदु वर्मा के आने के बाद हिमाचल में कांग्रेस पार्टी और भी मजबूत हो गई है। राजीव शुक्ला ने कहा कि
हिमाचल में हमारी चुनाव की तैयारी बहुत जोर-शोर से चल रही है और 27 जुलाई को हम युवा रोजगार यात्रा धर्मशाला से शुरु कर रहे हैं, जो पूरे प्रदेश में जाएगी और युवाओं को साथ में जोडक़र उनके रोजगार की लड़ाई लड़ेगी, क्योंकि हिमाचल में बहुत ज्यादा बेरोजगारी युवाओं में है और उससे बहुत त्रस्त हैं। वहाँ अग्निवीर का भी मुद्दा बहुत गर्म है क्योंकि पूरी भारतीय फौज में चार प्रतिशत योगदान हिमाचल प्रदेश का होता है, तो अग्निवीर से भी वहाँ बहुत नाराजगी है और हमने आपको पहले ही बताया है कि हमने ओल्ड पेंशन स्कीम बहाल करने का फैसला लिया है, लोगों की स्थिति देखते हुए वहाँ पर। अगर वहाँ हमारी सरकार आई तो हम वहाँ ओल्ड पेंशन स्कीम लागू करेंगे, तो हमारी युवा रोजगार यात्रा भी बहुत सफल होने वाली है, जो पूरे प्रदेश में जाएगी, हमारे युवा जो नेता हैं विक्रमादित्य सिंह जी, रघुवीर सिंह बाली और आश्रय शर्मा, अभिषेक राणा, सारे लोग उसमें सम्मिलित रहेंगे और हमारी जो सीनियर लीडरशिप हैं, वो सहयोग करेगी वहाँ पर, 27 जुलाई को उसको हम लांच कर रहे हैं। राजीव शुक्ला ने कहा कि इससे साबित होता है कि माहौल बना है, क्योंकि वहाँ राजा वीरभद्र सिंह जी के जमाने से कांग्रेस सरकारों ने बहुत काम किया और हर जगह जहाँ जाते हैं, उन्हीं का काम मिलता है, उन्हीं का पत्थर मिलता है। इन्होंने तो सिर्फ उद्घाटन के पत्थर, वादे सब कुछ किए हैं। अब न ऊना- हमीरपुर रेलवे लाइन अभी तक नहीं बनी, जबकि घोषणाएं बहुत हुई थीं। अटल टनल भी उद्घाटन इन्होंने किया, सारा पैसा और सब कुछ सोनिया जी ने दिलवाया था। डॉ मनमोहन सिंह ने वहाँ पर पैसा आवंटित किया था, सोनिया जी ने शिलान्यास किया था। ये तो सिर्फ उद्घाटन करने पहुंच जाते हैं। तो हिमाचल में भाजपा ने कोई काम नहीं किया सिर्फ प्रचार और सिर्फ फीता काटना, लेकिन काम वहाँ कोई नहीं हुआ और इससे लोग वहाँ बहुत दुखी हैं। इंदू वर्मा जी चुनाव भी लड़ेंगी या संगठन के अंदर काम करेंगी के उत्तर में श्री शुक्ला ने कहा कि इन्होंने सबकुछ पार्टी हाई कमान पर छोड़ दिया है। शुक्ला ने कहा कि युवा रोजगार यात्रा 27 जुलाई तक चलेगी। हिमाचल में कांग्रेस को आम आदमी पार्टी से कोई खतरा है, श्री शुक्ला ने कहा कि आम आदमी पार्टी से हमें कोई खतरा नहीं है, उनका कहीं कोई प्रभाव नजर नहीं आ रहा। पंजाब से ही लोग इतना रुष्ट हैं कि हिमाचल के लोग बिल्कुल पसंद नहीं कर रहे हैं, उनकी पंजाब की नीतियों को। शुक्ला ने कहा कि राजा वीरभद्र सिंह जी का अटैचमेंट कांग्रेस के साथ था, तो कांग्रेस को इसका लाभ मिलेगा। प्रतिभा सिंह जी उनकी धर्म पत्नी हैं, तो निश्चित रुप से लोगों का आकर्षण उनके प्रति है, लोग उन्हें भी सम्मान की दृष्टि से देखते हैं। टीएमसी के हिमाचल में चुनाव लडऩे को लेकर पूछे एक अन्य प्रश्न के उत्तर में शुक्ला ने कहा कि नहीं, टीएमसी हिमाचल में नहीं लड़ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share