चिराग पासवान ने की बिहार में राष्ट्रपति शासन लगा कर विधान सभा चुनाव कराने की मांग

 चिराग पासवान ने की बिहार में राष्ट्रपति शासन लगा कर विधान सभा चुनाव कराने की मांग

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना में राज्यपाल से मुलाकात कर मुख्यमंत्री पद से अपना इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफे के बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी की बैठक में सबकी यह राय थी कि एनडीए का साथ छोडऩा चाहिए इसलिए उन्होंने एनडीए के नेता के तौर पर मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया है।
वहीं दूसरी तरफ उनके कट्टर विरोधी चिराग पासवान ने दिल्ली में प्रेस कांफ्रेंस कर यह मांग की है कि बिहार में राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए। लोजपा ( रामविलास ) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और दलित राजनीति के दिग्गज नेता माने जाने वाले स्वर्गीय रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान ने कहा कि बिहार में राष्ट्रपति शासन लगाकर नए जनादेश के लिए नए सिरे से विधान सभा चुनाव कराए जाने चाहिए।
देश की राजधानी दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए चिराग पासवान ने नीतीश कुमार की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि उनके लिए व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा सबसे ऊपर है और इन्होंने 2015 और 2020 दोनों जनादेश का अपमान किया है। चिराग ने आगे कहा कि नीतीश कुमार ने जार्ज फर्नाडीस, शरद यादव, प्रशांत किशोर, उपेंद्र कुशवाहा और आरसीपी सिंह के साथ-साथ सबको धोखा देने का काम किया है और अब जिनके साथ ( आरजेडी) जा रहे हैं उन्हें भी धोखा देंगे।
चिराग ने बिहार में एक बार फिर से जोड़-तोड़ के जरिए सरकार गठन का विरोध करते हुए यह मांग कि राज्य में फिर से जनादेश के लिए चुनाव कराए जाने चाहिए। उन्होंने नीतीश को अकेले चुनाव लडऩे की चुनौती देते हुए कहा कि ये अगली बार शून्य पर आ जाएंगे।
चिराग पासवान ने कहा कि नीतीश कुमार विपक्ष के साझा उम्मीदवार बनना चाहते हैं। जो व्यक्ति सही मुख्यमंत्री नहीं बन सके वो प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति बनने की सोचने लगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share