चित्रा रामकृष्ण को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

 चित्रा रामकृष्ण को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने शुक्रवार को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) की पूर्व सीईओ और एमडी चित्रा रामकृष्ण को फोन टैपिंग मामले में 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। चित्रा रामकृष्ण को 2009 और 2017 के बीच एनएसई कर्मचारियों के फोन टैपिंग से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दो सप्ताह की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। रिमांड खत्म होने के बाद उन्हें शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया गया।
इस मामले में मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर संजय पांडे को भी गिरफ्तार किया गया था। वह फिलहाल ईडी के नौ दिनों के कस्टडी रिमांड पर हैं।
इससे पहले मामले में ईडी ने कहा था, फोन टैपिंग के लिए मनी लॉन्ड्रिंग की गई थी। फोन टैपिंग में किए गए भुगतान अपराध की कथित आय है। मामले से जुड़ी शेल कंपनियां भी हैं। हम जानना चाहते हैं कि पूरे ऑपरेशन को कौन संभाल रहा था।
ईडी ने दावा किया है कि पांडे को रामकृष्ण की मदद के लिए एमटीएनएल लाइन को टैप करने के लिए 4.54 करोड़ रुपये मिले थे।
पांडे ने कहा कि उन्होंने फोन लाइनों को टैप किया, लेकिन कुछ भी अवैध नहीं किया। उन्होंने कहा कि टैपिंग के लिए सभी उपकरण एनएसई द्वारा उपलब्ध कराए गए हैं।
इस संबंध में पांडे का रामकृष्ण से आमना-सामना हुआ और अधिकारियों ने उनसे पूछताछ की।
ईडी दो मौकों पर रामकृष्ण से हिरासत में पूछताछ कर चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share