चोर मचाए शोर कहावत ममता बनर्जी की पार्टी पर सही बैठती है : भाजपा

 चोर मचाए शोर कहावत ममता बनर्जी की पार्टी पर सही बैठती है : भाजपा

पश्चिम बंगाल में शिक्षा भर्ती घोटाले मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने बड़ी कार्रवाई करते हुए अर्पिता मुखर्जी के घर छापेमारी की और छापेमारी में 20 करोड़ कैश बरामद किया गया। अर्पिता मुखर्जी टीएमसी नेता पार्थ चटर्जी की करीबी बताई जा रही है। केंद्रीय मंत्री और भाजपा के नेता राजीव चंद्रसेखर ने टीएमसी पर आरोप लगाते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पार्थ चटर्जी की कार्यों की तारीफ की थी। राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि चिमनलाल के मुख पार्थ चटर्जी के कामों को सराह कर कहा था कि ऐसे लोग ही अच्छे काम कर रहे हैं । राजीव न कहा कि इतने पैसों के भंडार पकड़े जाने के बारे में ही ममता बनर्जी का रही थी इसी तरह से अच्छे काम होते हैं । राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि पश्चिम बंगाल की जनता के द्वारा गाढ़ी कमाई को वहां की ममता बनर्जी के मंत्री और उनके सहयोगियों द्वारा लूटी जा रही है। राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि 21 करो रुपया गैस पार्थ चटर्जी के करीबी अर्पिता मुखर्जी के यहां कितने पैसे ईडी द्वारा पकड़ी गई जिसके लिए ईडी को नोट गिनने वाले मशीन मंगवाने की जरूरत पड़ गई और पैसे को ट्रक से ले जाने की जरूरत पड़ गई। जनता के जन कल्याण योजनाओं के पैसा सरकार के पास आता है और उसका घोटाला हो जाता है क्या ममता बनर्जी इसी को राज्य के विकास के लिए सही मानती हैं । जब भी जांच एजेंसी नेताओं या उनके करीबियों को अपने दायरे में लेती है तो जांच एजेंसी को बदनाम करने की सोच समझकर अभियान चलाया जाता है । राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि इस केस को किसी तरह सिर दबाया जा सके इसीलिए एजेंसी को राजनैतिक रूप से बदनाम करने की कोशिश की जा रही थी । राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि इस तरह झारखंड में पंजाब के मुख्यमंत्री के करीब लोग के पास से बरामद हुआ,, महाराष्ट के पूर्व मंत्री ने करोड़ो रूप्ये के बेनामी संपत्ति हासिल किए हैं। केरल के मुख्यमंत्री सोना तस्करी में फंसे हुए हैं। राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि कांग्रेस डायनेस्टिक अचानक लैंड ऑनर बन गए हैं। कर्नाटक के कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार के घर पर इनकम टैक्स का छापा पड़ता है।  इन सब में एक कॉमन बात यह है कि ये सब लोग जांच एजेंसी के अधिकारी और उसके ड्यूटी को कम आंकने के लिए अभियान चलाते हैं। जबकि सरकार ने इन जांच एजेंसियों को स्वतंत्र बनाया है। उनको स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं ईमानदारी से काम करने के लिए मजबूत बनाया गया है। राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि अब तो जो लोग घोटाले कर रहे हैं वही लोग मानो ऐसा कर रहे हैं कि चोर शोर क्यों मचा रहे हैं कल पश्चिम बंगाल में पूर्व शिक्षा मंत्री के करीबी के घर से पैसों का अंबार के दृश्य से एक निष्कर्ष निकता है। क्योंकि उनकी चोरी का प्रमाण लोगों तक नहीं पहुंचे और लोगों को भ्रमित करें। उनका मकसद है।पिछले दिनों दिल्ली में भी देखा कि यही एजेंसी जब पूछताछ कर रही थी तो कांग्रेस ने देशभर में एक माहौल बनाकर जांच एजेंसी को छोटा दिखाने एवं अधिकारियों का मनोबल तोडऩे की कोशिश की गयी। राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि जो भी राजनीतिक दल ईडी को बदनाम कर रहे हैं उन्हें यह जानकारी होना चाहिए कि अब तक विधि के द्वारा 1,05,675 करोड़ रूप्ये का अवैध संपत्तियों को जब्त किया है। राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि पार्थ चटर्जी के करीबी के घर से कैश, सोना, फर्जी कंपनी के दस्तावेज आदि मिलाकर कुल 75 करोड़ रूप्ये से अधिक बरामद किया गया है। पार्थो चटर्जी टीमएसी के महामंत्री है। ये लोग जबरदस्ती आंख दिखाते हैं कि सीबीआई, ईडी को देख लेंगे।  पश्चिम बंगाल भारतीय जनता पार्टी के नेता दिलीप घोष ने कहा कि वीरभूम में बम बलास्ट में एक नेता मारे गए इसमें कुछ नेताओं के नाम आए थे उन सभी के मकान करोड़ों के रूप्ये के हैं। जबकि वे लोग पहले मजदूरी आदि जैसे छोटे मोटे काम करते थे। वे आज सैकड़ों करोड़ के मालिक है।दिलीप घोष ने कहा कि पार्थ चटर्जी ने लॉकडाउन के दौरान पूर्वी मिदनापुर में 45 करोड़ रूप्ये का एक कॉलेज बनवाया। डायमंड हार्बर में एक स्कूल जैसे अनेक संपत्तियां बना रखा है। जनता जानती है किन्तु कोई बोल नहीं सकता है क्योंकि जो बोलता है उसे जेल में डाल देते हैं। मेरे खिलाफ भी कई केस है। ममता बनर्जी ने कुछ दिन पहले पार्थ चटर्जी और उस महिला अर्पिता मुखर्जी की भी प्रशंसा की थी।ममता बनर्जी की सरकार में नियुक्ति की प्रक्रिया कभी निष्पक्ष ढंग से नहीं हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share