सीएम अशोक गहलोत ने डिजिफेस्ट में युवाओं के नवाचारों की सराहना करते हुए किया प्रोत्साहित

 सीएम अशोक गहलोत ने डिजिफेस्ट में युवाओं के नवाचारों की सराहना करते हुए किया प्रोत्साहित

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि युवाओं का उत्साह प्रदेश की उन्नति में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। युवा किसी भी क्षेत्र में बदलाव ला सकते है। राज्य सरकार भी युवाओं के उज्ज्वल भविष्य व प्रोत्साहन में अहम निर्णय ले रही है। इसी दिशा में अगला बजट युवाओं और विद्यार्थियों को समर्पित होगा। युवा हितों में बेहतर निर्णयों के लिए प्रदेशवासियों के सुझाव आमंत्रित है। श्री गहलोत ने कहा कि हमारा विजन ‘टेक्नोलॉजी फॉर ऑल‘ का है। इसके लिए राज्य सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है।
गहलोत शुक्रवार को बिड़ला सभागार में आयोजित राजस्थान डिजिफेस्ट समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने युवाओं से कहा कि श्री राजीव गांधी सिर्फ 40 वर्ष की आयु में देश के प्रधानमंत्री बन गए थे। उनके द्वारा ही देश के उज्ज्वल भविष्य के लिए पहली बार कम्प्यूटर क्रांति लाई गई थी। आज उसी का असर यहां युवाओं के उत्साह, कार्य के प्रति समर्पित भाव और नवाचारों में देखने को मिल रहा है। फेस्ट में
गहलोत ने सूचना तकनीक पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए युवाओं के नवाचारों की सराहना करते हुए उत्साहवर्धन किया। यह दो दिवसीय फेस्टिवल सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग की ओर से आयोजित किया जा रहा है।मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा अभी तक 1.30 लाख सरकारी नौकरियां दी जा चुकी है। लगभग 1 लाख पदों पर भर्ती प्रक्रियाधीन हैं और 1 लाख नौकरियों की घोषणा बजट 2022-23 में की गई है। ऐसे में राजस्थान देश में सरकारी नौकरियां देने में अग्रणी राज्य बन रहा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली स्थित उदयपुर हाउस में राजस्थान के 500 युवाओं के लिए नेहरू यूथ ट्रांजिट हॉस्टल एंड फैसिलिटेशन सेंटर बनाया जा रहा है। यहां राजस्थान के युवा ठहरकर अपने भविष्य को संवार सकेंगे।
प्रदेश में विश्वविद्यालयों की बढ़ी संख्या
गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार शिक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता दे रही है। मैं जब पहली बार मुख्यमंत्री बना था, उस समय राजस्थान में सिर्फ 6 विश्वविद्यालय थे जो आज 89 हो गए है। आज राजस्थान में आईआईटी, ट्रिपल आईटी, एम्स जैसे प्रतिष्ठित संस्थान संचालित है। प्रदेश के 33 जिलों में से 30 में मेडिकल कॉलेज खुल रहे हैं। इससे युवाओं को अब मेडिकल पढ़ाई के लिए बाहर नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने बड़ा निर्णय लेते हुए प्रदेश में राजकीय अंग्रेजी माध्यम विद्यालय खोले है, जिनमें प्रवेश को लेकर उत्साह ऐसा है कि लॉटरी निकालनी पड़ रही है। इस निर्णय का 10 साल बाद बड़ा असर देखने को मिलेगा। गांव-ढाणी के विद्यार्थी विश्व में अपना स्थान बनाएंगे।
महिलाओं को जल्द मिलेंगे स्मार्टफोन
मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही प्रदेश की 1.33 करोड़ महिलाओं को नि:शुल्क स्मार्टफोन दिए जाएंगे। इसमें 3 साल तक इंटरनेट सेवा भी मिलेगी। इससे महिलाएं और उनके परिवारजन बातचीत करने के साथ ही जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी लेकर लाभ उठा सकेंगे। साथ ही उनके बच्चे मोबाइल के जरिए ऑनलाइन पढ़ाई भी कर सकेंगे।
निरोगी राजस्थान की संकल्पना हो रही साकार
गहलोत ने कहा कि प्रदेश में निरोगी राजस्थान की संकल्पना साकार हो रही है। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में 10 लाख रूपये तक की नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। आईपीडी, ओपीडी, जांचें भी नि:शुल्क की गई है। ट्रांसप्लांट का पूरा खर्च भी सरकार द्वारा ही वहन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री दुर्घटना बीमा योजना में 5 लाख रूपये का बीमा भी किया गया है। प्रदेशवासियों को यह सुविधाएं देने में राजस्थान पूरे देश में अग्रणी राज्य बन गया है।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री को सिविल सोसायटी से निखिल डे व उनकी टीम द्वारा प्रदेश की उन्नति में सूचना प्रौद्योगिकी के बेहतर उपयोग संबंधित सुझाव दिए गए। इस मौके पर मुख्य सचिव श्रीमती उषा शर्मा, प्रमुख शासन सचिव वित्त अखिल अरोड़ा, आयुक्त सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग आशीष गुप्ता सहित राज्य सरकार के उच्चाधिकारी, देशभर से आए सूचना प्रौद्योगिकी विशेषज्ञ, आईटी सेक्टर के विद्यार्थी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share