मनीष सिसोदिया जल्द जेल में होंगे : कांग्रेस

 मनीष सिसोदिया जल्द जेल में होंगे : कांग्रेस

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ अनिल कुमार के नेतृत्व में भारी संख्या में मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में हुए हजारों करोड़ के शराब घोटाले को अंजाम देने वाले उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के इस्तीफे की मांग को लेकर आज डीडीयू मार्ग स्थित आम आदमी पार्टी मुख्यालय का घेराव किया। दिल्ली पुलिस की दमनकारी नीति आज भी जारी रही, प्रदेश अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार सहित कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया।चौ अनिल कुमार ने कहा कि दिल्ली में नियमों को ताक पर रखकर शराब नीति लागू करने वाले मनीष सिसोदिया को अरविन्द केजरीवाल तुरंत प्रभाव से पदमुक्त करें। चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि कांग्रेस पार्टी पहले दिन से ही केजरीवाल की शराब नीति का विरोध कर रही है और शराब घोटाले की जांच की मांग को लेकर कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने केजरीवाल की शराब नीति में हुए भ्रष्टाचार की जांच कराने के लिए तत्कालीन उपराज्यपाल और पुलिस आयुक्त को लिखित शिकायत भी की थी। उन्होंने कहा कि यह प्रदेश कांग्रेस कमेटी की मांग का ही असर है कि उपराज्यपाल ने लागू शराब नीति में हुए भारी भ्रष्टाचार की सीबीआई द्वारा जांच की सिफारिश की है। उन्होंने कहा कि सच को छुपाया नहीं जा सकता सच यही है कि दिल्ली सरकार पूरी तरीके से भ्रष्टाचार में लिप्त हैं और सत्येन्द्र जैन के बाद न सिर्फ मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी होनी तय है बल्कि आने वाले समय में इन सबके मुखिया अरविन्द केजरीवाल भी सलाखों के पीछे होंगे।अनिल कुमार ने कहा कि आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा मनीष सिसोदिया को बेहद ईमानदार व्यक्ति बताना और कहना कि शराब घोटाले का मामला कोर्ट में टिक नही पाएगा, केजरीवाल की घबराहट का परिचय है। जब मुख्यमंत्री के मुख्य सचिव की रिपोर्ट में आबकारी नीतियों में खामियां पाई गई है तो उप मुख्यमंत्री को सीबीआई द्वारा झूठे मामले में फंसाने का केजरीवाल का बयान बेहद शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल शराब घोटाले से अनभिज्ञ नही है इसीलिए कह रहे है कुछ दिनों में मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार भी किया जाऐगा क्यांकि उन्होंने सत्येन्द्र जैन की सच्चाई भी जानते थे इसलिए उन्होंने सत्येन्द्र जैन के लिए भी कहा था कि उन्हें गिरफ्तार किया जाऐगा।चौ अनिल कुमार ने कहा कि 32 जोन में विभाजित राजधानी में 849 ठेके खोलने की बोली निजी संस्थाओं और रिटेल लाईसेंस दिए गए और दिल्ली सरकार ने नियमों को ताक पर रखकर शराब माफिया के साथ मिलकर यह काम किया है। उन्होंने कहा कि शराब की दुकानों के साईज 150 स्कवायर फिट की जगह 500 स्क्वायर फिट करना, शराब पीने की कानूनी उम्र 25 से 21 करना, इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर इंडिपेंडेंट दुकानों और होटलों को 24 घंटे शराब बेचने की अनुमति देकर, शराब की होम डिलिवरी और शराब की दुकाने खोलने के तय दूरी के नियम की धज्जियां उड़ाने आदि भी जांच के दायरे के विषय है। उन्होंने कहा कि शराब नीति की सीबीआई जांच यदि तय समय और निष्पक्षता से होती है तो वह दिन दूर नही जब केजरीवाल भी जेल में होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share