जिंदगी के अंतिम सांस तक राजस्थान की सेवा करता रहूंगा- गहलोत

 जिंदगी के अंतिम सांस तक राजस्थान की सेवा करता रहूंगा- गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि वह राजस्थान के हैं और जहां पैदा हुए उससे दूर नहीं रह सकते और जिंदगी की आखिरी सांस तक कहीं भी, किसी भी पद पर रहे वह प्रदेश की सेवा करते रहेंगे।
गहलोत ने आज यहां मीडिया से बातचीत में यह बात कही। उन्होंने एक सवाल पर कहा मैं कहीं भी रहूं, किसी पद पर रहू, राजस्थान का हूं, मारवाड़ का हूं, जोधपुर का हूं, महामंदिर का हूं, जहां मैं पैदा हुआ, उससे कैसे दूर हो सकता हूं। जिंदगी के अंतिम सांस तक कहीं भी रहूं, तो सेवा करता रहूंगा। बार बार जो मैं कहता हूं उसके मायने होते हैं।
उन्होंने भाजपा पर राज्य सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उसने खूब खरीद फरोख्त के प्रयास कर लिए लेकिन हमारे लोग मजबूत हैं और हम पांच साल पूरे करेंगे। उन्होंने कहा कि अगला बजट युवाओं एवं छात्रों के लिए होगा और वह प्रदेशवासियों से दिल से अपील करना चाहेंगे कि वे उनके कोई सुझाव हो, वे मुझे सीधा भेजे। उन्होंने कहा कि देश का अगला भविष्य युवा पीढ़ी पर है। उन्होंने प्रदेश के लोगों से विनम्र अपील करते हुए कहा आप बार बार सरकार बदल देते हैं। मेरे अच्छे काम होते हैं। तब भी आप हवा में बह जाते हैं। कभी मोदी की हवा बह जाते हैं। एक बार कर्मचारी मेरे विरोध में हो गए थे। हमारी बातचीत नहीं हो पाई और उन्होंने नाराज होकर गांठ बांध ली थी। अगर बातचीत रहती तो यह स्थिति नहीं बनती। देश में श्री मोदी का माहौल बना और शीला दीक्षित हार गई, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ में हम जीत रहे थे, लेकिन हार गए। राजस्थान भी हार गए। मैं जनता से विनम्र निवेदन कर रहा हूं कि आप हमें एक मौका और दें।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में बड़ी बड़ी योजनाएं लेकर आये और पूर्वी राजस्थान नहर योजना (ईआरसीपी) के लिए संघर्ष कर रहे हैं और उसके लिए काम भी कर रहे हैं। केन्द्र सरकार को हमारी मदद करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार का रवैया राज्यों के प्रति ठीक नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share