गुजरात के कई हिस्सों में भारी बारिश, आणंद जिले में 380 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया

 गुजरात के कई हिस्सों में भारी बारिश, आणंद जिले में 380 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया

गुजरात के कई हिस्सों में भारी बारिश से जनजीवन ठप हो गया और सूरत, बनासकांठा तथा आणंद जिलों के निचले इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है। सूरत के पलसाणा तालुक में शनिवार सुबह तक 209 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। अधिकारियों ने बताया कि बोरसड तालुका के कुछ गांवों में गुरुवार को भारी बारिश के कारण बाढ़ आने के बाद जिला प्रशासन द्वारा तैनात राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के एक दल ने आणंद जिले में बारिश से प्रभावित गांवों में 380 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया।
शनिवार को सुबह छह बजे तक बीते 24 घंटों के दौरान दक्षिण गुजरात के कुछ हिस्सों और उत्तरी गुजरात के बनासकांठा में भारी बारिश से कई इलाके जलमग्न हो गए।
सरकार के राज्य आपात ऑपरेशन केंद्र (एसईओसी) के अनुसार, बारिश से सूरत शहर भी प्रभावित हुआ है। जिले के पलसाणा तालुका में सबसे अधिक 209 मिमी. बारिश दर्ज की गई। सूरत जिले के अन्य तालुकों बरडोली (125 मिमी.), उल्पड (118 मिमी.) और चोरयासी 117 मिमी. बारिश दर्ज की गई।
एसईओसी के आंकड़ों के अनुसार, दक्षिण गुजरात के नवसारी, तापी और वलसाड जिलों के अलावा उत्तर गुजरात के बनासकांठा में भी भारी बारिश हुई, खासतौर से देवदर (190 मिमी.), दीसा (120 मिमी.) और अमीरगढ़ (120 मिमी.) में बारिश हुई।
दीसा शहर के निचले इलाकों में कई दुकानें जलमग्न हो गईं। सडक़ों और अंडरपास में जलभराव हो गया, जिससे यातायात बाधित हो गया। सूरत शहर के निचले इलाकों में यही हाल है।
आणंद जिला प्रशासन के आपदा प्रबंधन अधिकारी ने कहा कि बोरसड तालुका में दो गांवों के कुल 380 लोगों को निचले इलाकों में बाढ़ आने के कारण सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया। इलाके में बारिश रुक गई है और जलस्तर कम हुआ है, लेकिन करीब 140 लोग अब भी घर नहीं लौट पाए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share