हाइड्रोजन से चलने वाली ट्रेनों का हो रहा है विकास, 2023 में हो जाएंगी तैयार : अश्विनी वैष्णव

 हाइड्रोजन से चलने वाली ट्रेनों का हो रहा है विकास, 2023 में हो जाएंगी तैयार : अश्विनी वैष्णव

भारत अगले साल तक हाइड्रोजन ट्रेन को तैयार कर लेगा और उसको चलाने की योजना तैयार की जा रही है। केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने यह जानकारी दी है। रेल मंत्री भुवनेश्वर के एक विश्वविद्यालय में आयोजित एक समारोह में भाग लेने गए थे। अश्वनी वैष्णव ने वहां बताया कि भारतीय रेलवे देश के सभी मुख्य भाग के साथ-साथ बिल्कुल अछूते पड़े भागों को भी रेलवे नेटवर्क से जुडऩा चाहती है।
गति शक्ति टर्मिनल नीति और काम के जरिए भारत के सभी इलाकों को तेजी से जोडऩे का प्रयास किया जा रहा है। रेल मंत्री ने वंदे भारत ट्रेन की सफलता का उदाहरण देते हुए बताया कि हमारा ध्यान केवल ट्रेन बनाने पर नहीं है बल्कि उत्तम चलिटी की ट्रेन अनगिनत सुविधाओं के साथ लोगों की सेवा करना चाहते हैं। रेल मंत्री ने यह भी बताया कि वंदे भारत का ट्रायल रन सफलतापूर्वक पूरा होने के बाद अब शेष 72 ट्रेनों का सीरियल प्रोडक्शन जल्द शुरू होगा। उन्होंने बताया कि तीसरी वंदे भारत ट्रेन की गति सीमा 180 किलोमीटर प्रति घंटा है। बुलेट ट्रेन द्वारा लिए गए 55 सेकंड की तुलना में यह 52 सेकंड में 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटा तक पहुंच जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share