सपा-बसपा की सरकार होती तो वे वैक्सीन को ब्लैक करते – योगी

 सपा-बसपा की सरकार होती तो वे वैक्सीन को ब्लैक करते – योगी

सपा-बसपा-कांग्रेस की संवेदना किसके साथ है? गरीबों के साथ नहीं, किसानों के साथ नहीं, नौजवानों के साथ और महिलाओं की सुरक्षा के लिए भी नहीं है। उनकी संवेदना आतंकवादियों, पेशेवर माफियाओं और अपराधियों के प्रति है। उन भ्रष्टाचारियों के प्रति है जो विकास के कामों में रोड़ा अटकाते थे। भाजपा की सरकार में उत्तर प्रदेश में विकास और बुलडोजर साथ-साथ चलाने की कार्रवाई शुरू हुई है। ये बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जौनपुर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जनसभा में जनता को सम्बोधित करते हुए कही।
मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि जौनपुर अपने इत्र और इमरती के लिए विख्यात है। जौनपुर के इत्र की खुशबू और इमरती की मिठास देश और दुनिया तक पहुंचे, इसके लिए प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश सरकार ने एक जनपद एक उत्पाद के माध्यम से जौनपुर की इमरती को भी पहचान देने का काम किया है। आज जब प्रधानमंत्री का शुभागमन इस धरती पर हुआ है तो मैं जौनपुर के लोगों की तरफ से उनका अभिनन्दन करता हूं।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम सब इस बात को जानते हैं कि आजादी के बाद से उत्तर प्रदेश के कई क्षेत्र अपने आप को उपेक्षित महसूस करते थे। पहली बार 2014 में प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सरकार गठित होने के बाद भारत सरकार ने उन क्षेत्रों का समग्र विकास करना शुरू किया है। आपकी दशकों की मांग मेडिकल कॉलेज इसी सत्र में शुरू हो चुका है। पिछले दिनों जब हम लोग आए थे तो जौनपुर को तीन राजमार्गों से जोडऩे का बड़ा काम शुरू हुआ था। जौनपुर विश्व प्रसिद्ध सांस्कृतिक नगरी काशी से सटा हुआ जनपद होने के नाते विकास से कैसे वंचित रह सकता है।
मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि यहां के प्रवासी कामगार श्रमिक और उत्तर प्रदेश के 15 करोड़ लोग डबल इंजन सरकार में महीने में दो बार राशन की सुविधा प्राप्त कर रहे हें। ये वही जौनपुर है, जहां उमानाथ सिंह केवल उत्तर प्रदेश की अराजकता और दुर्व्यवस्था को लेकर बलिदान हुए थे। सीएम योगी ने कहा कि आज यहां 24 घंटे बिजली उपलब्ध है। वैक्सीन का ही प्रभाव है कि थर्ड वेव कब आई, कब गई, पता ही नहीं चला। सपा-बसपा की सरकार होती तो वे वैक्सीन को ब्लैक करने का काम करते। जैसे इनके समय में खाद्यान्न घोटाले हुआ करते थे और गरीबों को राशन नहीं मिलता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share