8 वर्षों में दिल्ली को बर्बाद कर चुके केजरीवाल : कांग्रेस

 8 वर्षों में दिल्ली को बर्बाद कर चुके केजरीवाल : कांग्रेस

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष चौ अनिल कुमार ने कहा कि 8 वर्षों में दिल्ली की बुनियादी सुविधाओं मुहैया कराने में विफल मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा देश को विश्व में सर्वश्रेष्ठ बनाकर अगले 5 वर्षों में वह सब करना है जो 75 वर्षों में नही हो सका। उनका यह दावा पूरी तरह बेबुनियाद और सोच से परे वाला बयान है। प्रदेश अध्यक्ष ने प्रतिक्रिया मुख्यमंत्री केजरीवाल द्वारा आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर की गई प्रेसवार्ता पर दी। उन्होंने कहा कि 14 अगस्त को दिल्ली भर में 25 लाख झंडे लगाना सिर्फ एक संख्या बन रहने वाला है, क्योंकि केजरीवाल सरकार का 4 अगस्त को बच्चों का विश्व सबसे बड़ा तिरंगा बनाने का सपना सरकार की योजनागत खामियों के कारण कार्यक्रम रद्द करना पड़ा।प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि देश को सर्वश्रेष्ठ बनाने की बात करने वाले मुख्यमंत्री केजरीवाल के 8 वर्षों के शासन में राजधानी बेरोजगारी दर में विश्व में नम्बर वन पहुॅच गई है और बढ़ती महंगाई से पूरी दिल्ली प्रभावित है, शिक्षा व्यवस्था ध्वस्त हो गई और स्वास्थ्य व्यवस्था का उदाहरण कोविड महामारी में राजधानी में विश्व में सबसे अधिक मौतें हुई। उन्होंने कहा कि केजरीवाल अगले 5 वर्षों में सब कुछ विश्व स्तरीय बनाने का एक बार फिर खोखला वादा कर रहे है क्योंकि उन्होंने पिछले 8 वर्षों में दिल्ली को बर्बाद कर दिया है।चौ अनिल कुमार ने कहा कि केजरीवाल की प्रेस वार्ता लोगों को गुमराह करने का प्रोपेगेंडा है क्योंकि जब पूरी दिल्ली सरकार नई शराब नीति पर घिरती नजर आ रही है केजरीवाल दिल्ली छोड़ देश को सर्वश्रेष्ठ बनाने के बयान जारी कर रहे है। देश भर में 300 यूनिट बिजली मुफ्त देने का बयान जारी करने से पहले उन्होंने दिल्ली के लिए 300 यूनिट मुफ्त की घोषणा क्यों नही की? दिल्ली के 15 लाख बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने की घोषणा क्यों नही करते? उन्होंने कहा कि विश्वस्तरीय शिक्षा व्यवस्था का दावा करने के बावजूद दिल्ली में एक सरकारी स्कूल नही खोला जबकि निजी स्कूलों की संख्या बढ़ी है जिनमें ई.डब्लू.एस. छात्रों का पंजीकरण नही होना चिंता का विषय है।चौ अनिल कुमार ने केजरीवाल से पूछा कि आप सत्येन्द्र जैन, मनीष सिसोदिया, कैलाश गहलोत सहित 80 प्रतिशत भ्रष्टाचार में लिप्त मंत्री और विधायकों को अपनी खुद की घोषणा के तहत गद्दार कब घोषित करेंगे। केजरीवाल सरकार ने शराब माफिया के 144 करोड़ रुपये माफ करके दिल्ली की जनता के साथ गद्दारी की है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल का यह ड्रामा करके अमृत महोत्सव पर दिल्ली की जगह देश को सर्वश्रेष्ठ बनाने की बात करना अपने भ्रष्ट मंत्रियों के इस्तीफे से ध्यान भटकाने की कार्यवाही है।
चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि अब जब दिल्ली के उपराज्यपाल द्वारा नई शराब नीति लागू करने में हुई खामियों पर सीबीआई जांच की सिफारिश की है, मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री दोनों तत्कालीन उपराज्यपाल और अधिकारियों पर दोष मढऩा शुरु कर दिया है। प्रदेश अध्यक्ष ने मनीष सिसोदिया द्वारा बिना केबिनेट और उपराज्यपाल की अनुमति के शराब नीति में मनमाने बदलाव की अनुमति के उनकी गिरफ्तारी की मांग की। उन्होंने कहा कि बिना मंजूरी सभी नियमों का उलंघन करके 21 ड्राई डे को 3 में तबदील करके लोगों की धार्मिक आस्थाओं को ठेस पहुॅचाई है।
चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि शराब नीति के तहत ठेके खोलने में दिल्ली मास्टर प्लान की धज्जियां उड़ाई गई। डीडीए तथा एमसीडी से सर्टिफिकेट लेने की शर्त भाजपा नेताओं को लाभ पहुॅचाने के लिए सिसोदिया व पूर्व उपराज्यपाल ने मिलकर ड्राफ्ट में बदलाव किया था जिसके विरोध में कांग्रेस ने हमेशा आवाज उठाई जिसपर भाजपा-केजरीवाल एक साथ खड़े नजर आऐ।  उन्होंने कहा कि केजरीवाल मनीष सिसोदिया को बचाने के लिए अधिकारियों पर गाज गिरा रहे है जबकि यह साबित हो चुका है कि मनीष सिसोदिया शराब घोटाले के मुख्य दोषी है। केजरीवाल तुरंत प्रभाव से सिसोदिया स इस्तीफा लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share