प्रदूषण की समस्या के निदान के लिए न सरकार गंभीर न जनता : वरुण गांधी

 प्रदूषण की समस्या के निदान के लिए न सरकार गंभीर न जनता : वरुण गांधी

भाजपा लोकसभा सांसद वरुण गांधी ने दिल्ली-एनसीआर में विकराल होती जा रही प्रदूषण की समस्या पर चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि प्रदूषण की समस्या लगातार विकराल होती जा रही है, दिल्ली एनसीआर धुआं-धुआं हो गई है, लेकिन इस विकराल समस्या के निदान के लिए न तो सरकार गंभीर है और न ही जनता। वरुण गांधी ने प्रदूषण की समस्या पर चिंता जाहिर करते हुए ट्वीट कर कहा, दिल्ली एनसीआर धुआं-धुआं है! अस्पताल सांस, दिल और फेफड़े के मरीजों से भरे पड़े हैं। हर परिवार जिसे मैं जानता हूं वहां कोई न कोई खांसी, जुकाम और जकडऩ से जूझ रहा है।
विकराल होती जा रही प्रदूषण की समस्या के समाधान के प्रति सरकार और जनता, दोनों के ही रवैये की आलोचना करते हुए वरुण गांधी ने आगे कहा, इस विकराल समस्या के निदान के प्रति न सरकार गंभीर है न जनता। कहीं पराली, कहीं पटाखे, अपनों को ही जहर परोसना बंद करिए।
दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण का स्तर लगातार खराब होता जा रहा है। लगातार जहरीली होती जा रही हवा में लोगों का दम घुट रहा है लेकिन इसे लेकर राजनीति भी तेज हो गई है। भाजपा इसे दिल्ली और पंजाब दोनों राज्यों में आम आदमी पार्टी की विफलता बताते हुए अरविंद केजरीवाल और भगवंत मान, दोनों के इस्तीफे की मांग कर चुकी हैं तो वहीं दिल्ली सरकार और पंजाब के मुख्यमंत्री मान पराली जलने की घटना में हुई बढ़ोतरी के लिए केंद्र की भाजपा सरकार को जिम्मेदार बता रहे हैं।
इस बीच प्रदूषण के मोर्चे पर केजरीवाल सरकार पर नाकामी का आरोप लगाते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल भी गुरुवार को जंतर-मंतर पर अन्ना हजारे की फोटो के सामने उपवास पर बैठने जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share