प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने केजरीवाल सरकार को झूठों का सरताज बताते हुए आरोप लगाया कि उनके 8 वर्षों के शासन ने दिल्ली का विकास हर क्षेत्र में पिछड़ गया है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि केजरीवाल सरकार केवल विज्ञापनों के दम पर है और जमीनी स्तर पर उसका काम कहीं नजर नहीं आता है। आदेश गुप्ता ने कहा कि कौशल विकास और उच्च शिक्षा के क्षेत्र में केजरीवाल सरकार ने वर्ष 2021-22 में 19 करोड़ रूपये विज्ञापानों पर खर्च किये जबकि किसी एक भी छात्र को इस क्षेत्र में घोषित ऋण योजना का लाभ नहीं मिला। आदेश गुप्ता ने कौशल विकास और उच्च शिक्षा पर लगाई एक आर.टी.आई. के जवाब का हवाला देते हुए कहा कि इसमें साफ कहा गया है कि केजरीवाल सरकार की उच्च शिक्षा की योजना के लिए हजारों छात्रों ने आवेदन किया जिसमें से केवल 2 छात्रों को ऋण की मंजूरी दी गई लेकिन स्वीकृति होने के बावजूद भी ऋण उन्हें नहीं मिला। गुप्ता ने इस पर आश्चर्य व्यक्त किया कि केवल दो छात्रों का ऋण स्वीकृत होने के बावजूद आज तक कोई ऋण नहीं दिया लेकिन योजना के विज्ञापनों पर इतनी बड़ी राशि खर्च कर दी गई जबकि इस राशि से हजारों बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए ऋण दिया जा सकता था। उन्होंने कहा कि यदि केजरीवाल सरकार योजना को सही से लागू करती तो कई छात्र दिल्ली का नाम रोशन कर सकते थे। गुप्ता ने कहा कि यह एक सच्चाई है और अब देश और दुनिया भी जान चुकी है कि केजरीवाल सरकार केवल प्रचार के दम पर जिन्दा है। उन्होंने कहा कि इसी तरह खिलाडिय़ों के लिए घोषणाएं हुई और एक खेल विश्वविद्यालय बनाने का भी दावा किया गया, लेकिन हकीकत में ये कहां है किसी को पता नहीं।उन्होंने कहा कि पराली के मामले में भी 40 हज़ार की दावा खरीदी गई जिसे बांटने पर 24 लाख और इसके प्रचार पर 24 करोड़ रूपये खर्च किये गये। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार के झूठे वायदों से आज सबसे ज्यादा नुकसान यहां की जनता को हो रहा है जो तकलीफ में है क्योंकि हर क्षेत्र में दिल्ली अब पिछड़े राज्यों से भी मात खा चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share