श्रीलंका में सरकार विरोधी प्रदर्शनों के बाद दोबारा खुला राष्ट्रपति भवन

 श्रीलंका में सरकार विरोधी प्रदर्शनों के बाद दोबारा खुला राष्ट्रपति भवन

श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में बीते दिनों कब्जाए गए राष्ट्रपति कार्यालय को सोमवार से एक बार फिर शुरू कर दिया गया है। आर्थिक संकट से झूझ रहे श्रीलंका में बीते दिनों सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति भवन पर कब्ज़ा कर लिया था।
लोगों के उग्र प्रदर्शन को देखते हुए तत्कालीन राष्ट्रपति रहे गोटबाया राजपक्षे को देश छोडक़र भागना पड़ गया था। बाद में गोटबाया राजपक्षे ने अपने इस्तीफे की घोषणा कर दी थी। 20 जुलाई को रानिल विक्रमसिंघे नए राष्ट्रपति बनाए गए हैं, जबकि दिनेश गुणावर्धने को नया प्रधानमंत्री नियुक्त किया गया है।
सोशल मीडिया से लेकर अखबारों में यहां मौजूद इन लोगों की ढेरों फोटो वायरल हुई थीं। अब जबकि देश का राष्ट्रपति चुन लिया गया है तो देशवासियों को उम्मीद है कि देश के हालात फिर बदल जाएंगे और उनका जीवन फिर से पटरी पर आ जाएगा।
कई दिनों से प्रदर्शनकारियों के कब्जे में रहे राष्ट्रपति भवन को खाली कराने के लिए सेना के हथियारबंद सैनिकों ने मोर्चा संभाला था। इस कार्यवाई में 48 लोग घायल हुए हैं। साथ ही नौ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया हैं। सेना ने राष्ट्रपति भवन में लगाए गए टेंट को भी परिसर से हटा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share