भाजपा के नेताओं से जुड़े हुए घोटाले लगातार सामने आ रहे : संजय सिंह

 भाजपा के नेताओं से जुड़े हुए घोटाले लगातार सामने आ रहे : संजय सिंह

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि भाजपा के नेताओं से जुड़े हुए घोटाले लगातार सामने आ रहे हैं। लेकिन किसी में भी ईडी- सीबीआई की जांच नहीं होती। अगर भाजपा को अपने लोगों पर कार्रवाई नहीं करनी है तो यह संस्थाएं क्यों बनी हुई हैं? क्या यह सिर्फ आम आदमी पार्टी पर कार्रवाई करने के लिए हैं? उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में हजारों करोड़ के राशन घोटाले का मामला सामने आया है। सीएम शिवराज सिंह के खिलाफ सीबीआई-ईडी की जांच तत्काल शुरू होनी चाहिए। बीजेपी की मोदी सरकार में थोड़ी सी भी शर्म बची है तो ईडी-सीबीआई की जांच शुरू कराकर शिवराज सिंह के खिलाफ कार्रवाई करें। संजय सिंह ने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार का बहुत बड़ा भ्रष्टाचार सामने आया है। यह भ्रष्टाचार किसी सामान्य जांच में सामने नहीं आया है बल्कि सीएजी की जांच में सामने आया है। आंगनवाड़ी केंद्रों पर राशन पहुंचाना था, यह उसमें घोटाले का मामला है। महज 2 जिलों में ही डेढ़ सौ करोड रुपए का घोटाला सामने आया है। अगर 50 जिलों के हिसाब से देखें तो 7500 करोड़ रुपए का घोटाला है। ट्रक के बजाए मोटरसाइकिल स्कूटर टैंकर, कार आदि के नंबरों से खाद्यान्न की ढुलाई दिखाई गई। जब इसकी जांच हुई तो पता चला कि 8 हजार बच्चों का राशन गया है जबकि दिखाया 36 लाख बच्चों का राशन गया है। बच्चों के राशन को डकार लिया गया। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेताओं से जुड़े हुए इतने घोटाले होते हैं, लेकिन एक भी प्रकरण में ईडी, सीबीआई, पुलिस, आयकर विभाग, ईओडब्ल्यू की जांच नहीं होती है। अगर आपको अपने लोगों पर कार्रवाई नहीं करनी है तो यह संस्थाएं क्यों बनी हुई हैं।? क्या यह सिर्फ आम आदमी पार्टी और विपक्ष के लोगों पर कार्रवाई करने के लिए हैं? क्या विधायकों की खरीद-फरोख्त के लिए यह संस्थाएं हैं? संजय सिंह ने कहा कि हम मांग करते हैं कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ सीबीआई और ईडी की जांच तत्काल शुरू होनी चाहिए। उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए। क्योंकि यह सामान्य भ्रष्टाचार का नहीं बल्कि हजारों करोड़ के राशन घोटाले का मामला है। आम आदमी पार्टी के विधायकों का दल आज सीबीआई मुख्यालय गया, जहां उसकी शिकायत की है। अगर थोड़ी सी भी शर्म बीजेपी की मोदी सरकार में है तो इस पर ईडी-सीबीआई की जांच शुरू करा कर शिवराज सिंह के खिलाफ कार्रवाई करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share