जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

 जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

पेगासस डील मामले में सुप्रीम कोर्ट में एक नई याचिका दायर की गई है जिसमें विवादित डील में शामिल रहे लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की गई है। याचिका में न्यूयॉर्क टाइम्स (एनवाईटी) की रिपोर्ट का हवाला दिया गया है कि भारत सरकार ने 2017 में मिसाइल प्रणाली सहित हथियारों के लिए 2 अरब डॉलर के पैकेज के हिस्से के रूप में पेगासस को खरीदा था।
सुप्रीम कोर्ट में मूल पेगासस मामले में मुख्य याचिकाकर्ता रहे वकील एमएल शर्मा ने ही नई याचिका दाखिल की है। शर्मा ने एससी से एनवाईटी रिपोर्ट का संज्ञान लेने और उन सभी के खिलाफ सीधे एफआईआर दर्ज करने का आग्रह किया है जो इसराइल के साथ सौदे में शामिल थे। इसके साथ ही याचिका में भारत-इजरायल के बीच हुए इस सौदे की जांच की मांग भी की गई है। इससे पहले सीजेआई एन वी रमना के नेतृत्व वाली पीठ ने इसी डील से जुड़े केस में तीन सदस्यीय विशेषज्ञ जांच समिति का गठन किया था।
बता दें कि अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपनी पड़ताल के हवाले से छापा है कि इजराइल सरकार ने भारत को पेगासस की तकनीक बेची थी। इसी रिपोर्ट के आधार पर शर्मा ने मांग की है कि सौदे के लिए संबंधित अधिकारी या प्राधिकरण के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कराई जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share