अमेरिका और ताइवान ने व्यापार वार्ता शुरू करने की योजना की घोषणा की

 अमेरिका और ताइवान ने व्यापार वार्ता शुरू करने की योजना की घोषणा की

अमेरिका और ताइवान के बीच व्यापार वार्ता आधिकारिक रूप से शुरू होगी। यह घोषणा खुद अमेरिका और ताइवान ने की है। उप अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि सारा बियांची ने बुधवार देर रात एक बयान में कहा, दोनों पक्षों ने हमारे व्यापार और निवेश संबंधों को गहरा करने, साझा मूल्यों के आधार पर आपसी व्यापार प्राथमिकताओं को आगे बढ़ाने और हमारे श्रमिकों और व्यवसायों के लिए नवाचार और समावेशी आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के उद्देश्य से व्यापार वार्ता के लिए व्यापक उद्देश्य निर्धारित किए हैं।
ट्रांस-पैसिफिक पार्टनरशिप (सीपीटीपीपी) के लिए, ताइवान के व्यापार वार्ता कार्यालय ने गुरुवार को औपचारिक वार्ता शुरू करने की घोषणा करते हुए कहा कि, उनका लक्ष्य अधिक अमेरिकी और विदेशी निवेश को आकर्षित करने के लिए बातचीत करना है और द्वीप के लिए जापान के नेतृत्व वाले व्यापक और प्रगतिशील समझौते जैसे अंतर्राष्ट्रीय व्यापार ब्लॉक में शामिल होने का मार्ग प्रशस्त करना है।
ताइवान के व्यापार कार्यालय ने कहा कि, टैरिफ पर चर्चा नही की जाएगी।
अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि के कार्यालय ने घोषणा करते हुए कहा है कि, व्यापार वार्ता सर्दियों के मौसम में शुरू होने की उम्मीद है।
वाशिंगटन और ताइपे ने जून में 21वीं सदी के व्यापार पर यूएस-ताइवान पहल का अनावरण किया था।
वार्ता की घोषणा अमेरिकी हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी द्वारा ताइवान की 2 अगस्त की यात्रा के बाद हुई है। पेलोसी की ताइवान दौरे से चीन नाराज है।
जवाब में बीजिंग ने ताइवान के आसपास बड़े पैमाने पर सैन्य युद्धाभ्यास शुरू किया।
1949 से ताइवान में एक स्वतंत्र सरकार रही है लेकिन चीन द्वीप को अपने क्षेत्र का हिस्सा मानता है। बीजिंग अन्य देशों और ताइपे के बीच आधिकारिक संपर्कों को खारिज करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share