आतंकवादी के प्रति अखिलेश की सहानुभूति और चुप्पी क्यों है? – सीएम

 आतंकवादी के प्रति अखिलेश की सहानुभूति और चुप्पी क्यों है? – सीएम

उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े जिले लखीमपुर खीरी जिले में रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पांच चुनावी जनसभाओं को संबोधित किया। अपनी हर जनसभा में मुख्यमंत्री ने समाजवादी पार्टी को अपने निशाने पर रखा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अहमदाबाद न्यायालय ने जिन 38 आतंकियों को ब्लास्ट मामले में सजा दी है, इनमें से एक सजा पाने वाला व्यक्ति का पिता सपा का पदाधिकारी है। यह जानते हुए भी अखिलेश यादव ने इस मामले में कोई अभी तक कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया है। इससे स्पष्ट है कि अखिलेश की सहानुभूति और संवेदना आतंकवादियों के साथ है, जबकि हमारी संवेदना गरीबों के साथ है। यह दावा करते हुए मुख्यमंत्री किया कि यूपी में फिर भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनने जा रही है। यहां सपा और बसपा के प्रत्याशियों की जमानत जब्त होगी और सरकार बनने पर काशी विश्वनाथ धाम की तर्ज पर गोला गोकर्णनाथ का भव्य धाम बनेगा।
जनसभा में मुख्यमंत्री ने गोला गोकर्णनाथ का जिक्र किया और अपनी सरकार की उपलब्धियों का विस्तार से उल्लेख किया। मुख्यमंत्री ने बताया कि कैसे बीते पांच वर्षों में उनकी सरकार ने किसान, नौजवान और महिलाओं के हित में कार्य किया। इस दौरान किसानों के कर्ज माफ़ किए गए और युवाओं को रोजगार और नौकरियां उपलब्ध कराई गई। यूपी को अंधेरे से मुक्त किया। बिना भेदभाव के योजनाओं का लाभ लोगों उपलब्ध कराया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने जहां यूपी के विकास पर ध्यान दिया, वही सपा सरकार में दंगे होते थे, कर्फ्यू लगता था। अराजकता का माहौल था। तब सपा सरकार की संवेदना गरीबों की प्रति नहीं आतंकवादियों के प्रति थी। आतंकियों के मुकदमे वापस लिए जाते। अभी भी सपा नेताओं की संवेदना गरीबों के प्रति नहीं बल्कि आतंकवादियों के प्रति है।
सपा की संवेदना कैसे आतंकियों के प्रति है? इसे स्पष्ट करते हुए मुख्यमंत्री कहा कि दो दिन पहले अहमदाबाद न्यायालय ने 38 आतंकियों को ब्लास्ट मामले में सजा दी। इसमें जिनको सजा मिली है, इनमें से एक सजा पाने वाला व्यक्ति का पिता सपा का पदाधिकारी है और वह सपा का प्रचार कर रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं अखिलेश से पूछना चाहता हूं कि इस मामले में उन्होंने अपना स्पष्टीकरण क्यों नहीं दिया है? इस आतंकवादी के प्रति अखिलेश की सहानुभूति और संवेदना क्यों है? क्या अखिलेश की चुप्पी राष्ट्रीय सुरक्षा और आपके (जनता) के साथ करने जैसा नहीं है? यह कहते हुए मुख्यमंत्री ने जनसभा में आये लोगों से कहा कि जो लोग आतंकवाद को प्रश्रय दे रहे हैं और राष्ट्र की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं क्या जनता उन्हें अपना वोट देगी? क्या ऐसे लोगों को आपका आशीर्वाद मिलना चाहिए? आतंकवाद को प्रश्रय देने वालों को क्या जनता वोट देगी? जनता से यह सवाल करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आज तीसरे चरण का मतदान चल रहा है। बीजेपी ने भयमुक्त, गरीब, किसान, महिलाओं और मजदूरों के लिए काम किया है। मैं अपील करता हूं कि जहां चुनाव 59 सीटों पर चल रहा है, वहां अधिक से अधिक संख्या में लोग वोट करने के लिए जाएं और प्रचंड बहुमत से बीजेपी को जिताएं। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सपा के लोग जनता को भूखा मरने के लिए छोड़ देते थे और राशन वितरण का पैसा इत्र वाले मित्र के घर पहुंच जाता था। सपा के इत्र वाले मित्र ने गरीबों का पैसा हड़प लेते थे। सपा सरकार में बिजली नहीं आती थी, भाजपा सरकार में चौबीसों घंटे शहरों में बिजली मिल रही है। अयोध्या में राम मंदिर हमने बनाया है, क्या ये लोग मंदिर बनवाते?
विकास में भेदभाव नहीं
लखीमपुर खीरी की अपनी हर जनसभा में मुख्यमंत्री ने दावा किया बीते पांच वर्षों में उनकी सरकार ने बिना किसी भेदभाव के लोगों तक योजनाओं का लाभ पहुंचाया। मुख्यमंत्री ने बताया कि इस जिले में छह लाख 30 हजार किसानों को किसानों को किसान निधि की धनराशि मिल रही है। जिले के एक लाख 43 हजार से अधिक किसानों का 909 करोड़ रुपए का कर्ज माफ़ किया गया है। 1,16000 बुजुर्गों को पेंशन दी जा रही है। 40 लाख लोगों को हर माह राशन मिल रहा है। कोरोना से बचाव के लिए फ्री में इलाज, फ्री में टेस्ट और फ्री में वैक्सीन लोगों लगाई जा रही है। यहां 88 हजार विधवा महिलाओं को 12 हजार रुपए सालाना पेंशन हमारी सरकार दे रही है। बिना किसी भेदभाव के जिले में चौबीस घंटे बिजली लोगों को मिल रही है। जबकि सपा सरकार में बिजली भी जाति धर्म देखकर लोगों को उपलब्ध कराई जाती थी। हमने लखीमपुर खीरी के पास मेडिकल कॉलेज भी शुरू होगा। अब यहां किसी को इलाज के लिए दिल्ली, मुंबई नहीं जाना पड़ेगा। योगी ने कहा कि यह काम पहले की सरकारों में नहीं हो पाया। हम लोग लखीमपुर जिले के अंदर 40 लाख लोगों को हर माह राशन दे रहे हैं। किसानों का कर्ज माफ कर रहे हैं। हमारी संवेदना गरीब, किसान, नौजवान और महिलाओं के प्रति है। लेकिन सपा की संवेदना आतंकवाद, माफिया और पैसा के प्रति है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share