दिल्ली की 540 किमी सडक़ों को बनायेंगे विश्वस्तरीय  : मनीष सिसोदिया

 दिल्ली की 540 किमी सडक़ों को बनायेंगे विश्वस्तरीय  : मनीष सिसोदिया

केजरीवाल सरकार दिल्ली की सडक़ों को विश्वस्तरीय व सुंदर बनाने की दिशा में मिशन मोड में काम कर रही है। इसके तहत पीडब्ल्यूडी दिल्ली की सडक़ों के सौन्दर्यीकरण का काम कर रही है।  मनीष सिसोदिया ने पायलट प्रोजेक्ट के तहत खूबसूरत बनाए जा रहे राजघाट से शांतिवन तक के रोड स्ट्रेच का ऑन-साईट निरीक्षण किया तथा यहां आवाजाही करने वाले लोगों से उनके अनुभवों को जाना। अपने अनुभवों को साझा करते हुए लोगों ने कहा कि रौशनी में जगमगाते इस रोड स्ट्रेच को देख कर विश्वास नहीं हो रहा कि दिल्ली में इतने शानदार रोड बन रहे है। अबतक हमने फिल्मों में विदेशों की सडक़ों को ऐसा देखा है। सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली की सडक़ो पर चलने के अनुभव को वर्ल्ड क्लास बनाने का अरविंद केजरीवाल जी का विजऩ पूरा होता दिख रहा है7 अब दिल्ली की सडक़ें खूबसूरत दिखने लगी है साथ ही इनपर चलने वाले लोगों को भी यह भा रही है जो बहुत ख़ुशी की बात है। उन्होंने कहा कि राजघाट से शांति वन तक का यह रोड स्ट्रेच दिल्ली की सडक़ों को विश्वस्तरीय व खूबसूरत बनाने के केजरीवाल सरकार के मिशन के तहत शुरू किए गए 16 पायलट प्रोजेक्ट्स का हिस्सा है। इस रोड स्ट्रेच के सौन्दर्यीकरण व यहां सुविधाएं विकसित करने का ज़्यादातर काम पूरा हो चुका और पूरा स्ट्रेच बेहद शानदार दिख रहा है। उन्होंने आगे कहा कि पायलट फेज में चल रहे 16 सडक़ों के सौन्दर्यीकरण के बाद हम पीडब्ल्यूडी के अधीन आने वाली 540 किमी सडक़ों को खूबसूरत बनाने का काम करेंगे और पूरी दिल्ली की सडक़ों को एक नई पहचान देंगे, लोगों को सडक़ों पर चलने का सुखद अनुभव देंगे। मनीष सिसोदिया को यूरोपीय सडक़ों के मॉडल पर री-डिजाइन कर सुंदर बनाई जा रही इस सडक़ की कार्य प्रगति के बारे में विस्तार से जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि यह स्ट्रैच 1 किलोमीटर लंबा है और इसके अधिकतर हिस्से में सौन्दर्यीकरण का काम लगभग पूरा हो चुका है और बाकि बचा हुआ काम भी तेजी से पूरा किया जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि स्ट्रेच पर लोगों को पैदल चलने के लिए फूटपाथ बनाए गए हैं। पूरे स्ट्रेच को हरा-भरा बनाए रखने के लिए स्ट्रैच के साथ छोटे-छोटे पौधे लगाए गए हैं तथा मौजूदा पेड़ों को सुरक्षित रखा गया है। पैदल चलने वालों और सडक़ का इस्तेमाल करने वालों के लिए बैठने और आराम करने के लिए पर्याप्त जगह उपलब्ध कराई गई है और व्हीलचेयर रैंप भी बनाए गए है। अधिकारियों ने बताया कि इस स्ट्रेच पर रोड के दोनों ओर 500-500 मीटर स्ट्रेच के साथ-साथ सेंट्रल वर्ज के सौन्दर्यीकरण का कार्य भी किया जाएगा। सिसोदिया ने स्ट्रेच पर आवाजाही करने वाले लोगों से उनके अनुभवों को भी  जाना। लोग रोड स्ट्रेच से काफी खुश दिखे और कहा कि इतनी खूबसूरत रोड को देखकर विश्वास नहीं होता कि दिल्ली की सडक़ें इतनी शानदार बनने लगी है।अबतक हमने केवल फिल्मों में विदेशों की सडक़ों को ही ऐसा देखा है। अब जब दिल्ली में ऐसी शानदार सडक़ें बन रही है तो हम सुबह-शाम यहां परिवार के साथ यहां घुमने आ सकते टहल सकते है।सडक़ सौंदर्यीकरण के महत्वकांक्षी परियोजना के तहत पीडब्ल्यूडी द्वारा अभी पायलट फेज में दिल्ली के 16 सडक़ों का वहां की जरूरतों के अनुसार सौंदर्यीकरण किया जा रहा है व इनके पूरा होने के पश्चात दिल्ली के 540 किमी. रोड स्ट्रेच का भी इसी के तर्ज पर सौंदर्यीकरण किया जाएगा।इन सभी सडक़ों के री-डिजाइन के बाद सडक़ के आस-पास हरियाली काफी बढ़ जाएगी। सडक़ की एक इंच जमीन भी खाली नहीं होगी, जहां पर घास न लगी हो। इससे सडक़ पर धूल से होने वाले प्रदूषण की समस्या खत्म होगी। अभी सडक़ों पर धूल उडऩे की समस्या से लोगों को समस्या होती है। सडक़ के किनारे खाली जमीन पर ग्रीन बेल्ट या घास लगाई जाएगी, ताकि हरियाली की वजह से सडक़ें खूबसूरत दिखें और धूल से होने वाला प्रदूषण खत्म किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share