डॉक्टर के दौरे के समय रो देने के लिए मरीज पर लगा 40 डॉलर का जुर्माना

 डॉक्टर के दौरे के समय रो देने के लिए मरीज पर लगा 40 डॉलर का जुर्माना

अमेरिका में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जहां अस्पताल पहुंची एक महिला को डॉक्टर के दौरे के दौरान रोने की वजह से 40 अमेरिकी डॉलर (लगभग 3100 रुपए) का फाइन लगा दिया। केमिली जॉनसन जो कि एक लोकप्रिय यूट्यूबर और इंटरनेट हस्ती हैं, ने ट्विटर पर एक मेडिकल बिल शेयर किया है जिसमें रोने के फाइन का जिक्र है।
मेडिकल बिल में कई प्रकार के चार्ज को दर्शाया गया है जिसमें इमोशनल बिहेवियर का जिक्र किया गया है उसके सामने फाइन की 40 डॉलर का जिक्र भी किया गया है। जॉनसन ने ट्वीट में बताया है कि उसकी बहन को एक दुर्लभ बीमारी है और वह भावुक हो गई क्योंकि वह निराश और असहाय महसूस कर रही थी। ऐसा इसलिए क्योंकि वह देखभाल को लेकर परेशान थी।
उनकी बहन से कोई बातचीत नहीं की गई। उन्होंने कथित तौर पर दावा किया कि नाम नहीं पता होने वाले मेडिकल फैसिलिटी के डॉक्टर ने उनकी बहन के आंसू देखे लेकिन कुछ नहीं कहा। उन्होंने आगे बताया कि स्वास्थ्य देखभाल केंद्र ने अवसाद या अन्य मासनिक बीमारियों के लिए उनकी बहन का मूल्यांकन नहीं किया। यहां तक कि विशेषज्ञों ने बहन से बात भी नहीं की नही किसी को रेफर किया गया और न ही उसे कुछ बताया गया।
जिस मेडिकल बिल को जॉनसन ने ट्विटर पर शेयर किया है वो इसी साल जनवरी की है। जब उसकी बहन अपनी तबीयत खराब होने को लेकर डॉक्टर से मुलाकात की थी। मेडिकल बिल में हीमोग्लोबिन टेस्ट के अलावा और भी कई प्रकार के टेस्ट की कीमत को दर्शाया गया है। पांचवें नंबर पर क्राइंग (रोने के लिए) 40 अमेरिकी डॉलर का फाइन लगाया गया है।
एक अन्य ट्वीट में जॉनसन ने कहा कि आंसू के लिए उन्होंने 40 डॉलर का फाइन लगा दिया, बिना यह पूछे कि वह क्यों रो रही है। न तो मदद करने कोशिश की गई, न ही कोई उपाय कुछ भी नहीं। ट्विटर पर शेयर किए जाने के बाद से जॉनसन के ट्वीट को 486,000 से ज्यादा लाइक्स और हजारों कमेंट्स भी किए गए हैं। कई इंटरनेट यूजर्स ने अधिक शुल्क वाले मेडिकल बिलों के साथ अपने अनुभव शेयर किए।
00

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share