महिला एशेज : इंग्लैंड की टीम में लगी कोरोना की सेंध

 महिला एशेज : इंग्लैंड की टीम में लगी कोरोना की सेंध

इंग्लैंड महिला क्रिकेट टीम की कप्तान हीथर नाइट ने सपोर्ट स्टाफ के एक सदस्य के कोरोना संक्रमित पाए जाने की खबर के बाद एशेज सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पहुंची टीम के बीच बढ़ी चिंताओं को स्वीकार किया है। उन्होंने एशेज सीरीज से पहले इसे उनकी तैयारियों में नई दुविधा बताया है।
नाइट ने कहा,  हम इसके लिए तैयार थे। मुझे लगता है कि यह सोचना अंजान बनना होगा कि हम कोरोना से प्रभावित नहीं होंगे, लेकिन समूह में चिंताएं हैं। हमें बहुत सख्त प्रोटोकॉल के तहत रहना पड़ा है, जब से हम ऑस्ट्रेलिया आए हैं। हमें वायरस के प्रसार को सीमित करने के लिए बाहर जाने की अनुमति नहीं है। यह 24 से 48 घंटे तक घबराहट वाला होने वाला है, लेकिन हमने जो पीसीआर टेस्ट कराए हैं, वे सभी नेगेटिव आए हैं। हम प्रार्थना कर रहे हैं। हम जानते थे कि कोरोना का प्रभाव दिखेगा। हमें ब्रिटेन में दो हफ्ते के लिए खुद को सुरक्षित करना पड़ा है। हम सही सलामत यहां आने के लिए क्रिसमस के जश्न से दूर रहे। यह एक बहुत बड़ा प्रयास रहा है।
उल्लेखनीय है कि इंग्लैंड के ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के बाद से किए गए कोरोना टेस्ट (पीसीआर टेस्ट) के दूसरे दौर में कोरोना संक्रमित पाए गए सपोर्ट स्टाफ के सदस्य को फिलहाल चरंटीन कर दिया गया है और वह कैनबरा में ही रहेगा, जबकि शेष समूह एशेज के टी-20 चरण से पहले एडिलेड रवाना होगा, जो गुरुवार से शुरू हो रहा है। टीम के सोमवार को चार्टर उड़ान से रवाना होने से पहले किए गए कोरोना टेस्ट में कोई अन्य पॉजिटिव मामला सामने नहीं आया है।
समझाा जाता है कि इंग्लैंड की टीम लगभग एक हफ्ते से ऑस्ट्रेलिया में है और न्यूजीलैंड में मार्च-अप्रैल में होने वाले आईसीसी महिला वनडे विश्व कप के लिए चरंटीन आवश्यकताओं के कारण पहले ऑस्ट्रेलिया जाने के शेड्यूल में बदलाव के बाद पहले से ही अपनी योजनाओं में बदलाव कर रहा है।
शिविर में संक्रमण के मामले ने इंग्लैंड को प्रतिबंधों में जकड़ दिया है, हालांकि विश्व कप से पहले इस सप्ताहांत में अत्यधिक सावधानी के माहौल के बीच कैनबरा में दो निर्धारित इंट्रा-स्चड अभ्यास मैच अभी भी खेले जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share