5 महीने बाद डायरी से खुला युवक की आत्महत्या का राज

 5 महीने बाद डायरी से खुला युवक की आत्महत्या का राज

देहरादून। वसंत विहार क्षेत्र में सितंबर 2021 के दौरान युवक के आत्महत्या करने के मामले में पुलिस ने एक महिला व उसके साथी के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज किया है। घटना के पांच महीने बाद युवक की डायरी में लिखे नोट से आत्महत्या का राज खुला है।
वसंत विहार थाना प्रभारी नरेश राठौड़ ने बताया कि पिछले साल सितंबर में भोपाल, मध्य प्रदेश निवासी विनीत सिरवैया ने देहरादून के आशीर्वाद एन्क्लेव में अपने दोस्त के कमरे में जहर खाकर खुदकुशी कर ली थी। विनीत ने कलिंगा यूनिवर्सिटी, रायपुर, छत्तीसगढ़ से बीटेक किया था और वह देहरादून में कोचिंग दे रहा था। विनीत के पिता विजय सिरवैया ने जब उसके दस्तावेज खंगाले तो उसमें एक डायरी मिली। उसमें विनीत ने एक नोट लिखा था, जिसमें आत्महत्या के लिए सिम्मी उर्फ परमिंदर कौर व उसके मित्र लथुरा को मौत का जिम्मेदार बताया था। मृतक के पिता ने डायरी में लिखे नोट की हैंडराइटिंग का मिलान कलिंगा यूनिवर्सिटी, रायपुर में दी गई बीटेक परीक्षा की आंसर शीट से करवाई तो वह मैच कर गई। इसके बाद उन्होंने पुलिस से शिकायत की। विजय सिरवैया ने बताया कि आरोपितों ने उनके बेटे को इतना परेशान कर दिया था कि वह आत्महत्या के लिए विवश हो गया। शिकायतकर्ता ने बताया कि जब उन्होंने अपने बेटे के मोबाइल की वाट्सएप चैट को पढ़ा तो पता चला कि सिम्मी उर्फ परमिंदर कौर उनके बेटे को ब्लैकमेल कररुपये मांग रही थी। महिला उनके बेटे को झूठे केस में फंसाने की धमकियां दे रही थी। थानाध्यक्ष वसंत विहार नरेश राठौड़ ने बताया कि डायरी में लिखे नोट व वाट्सएप चैट के आधार पर सिम्मी और उसके पुरुष मित्र लथुरा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share