कोरोना केसों के बीच जरूरी दवाओं की मांग बढ़ी

 कोरोना केसों के बीच जरूरी दवाओं की मांग बढ़ी

देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना केसों के बीच जरूरी दवाओं की भी मांग बढ़ने लगी है।  कोरोना के इलाज में इस्तेमाल हो रही दवाओं की खपत करीब 30 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ गई है।  दवाओं की पर्याप्त सप्लाई होने से मरीजों को बाजार में आसानी से उपलब्ध भी हो जा रही हैं। जिले में कोरोना के मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। राहत की बात यह है कि वैक्शीनेशन कराने व हल्के लक्षणों के कारण गंभीर मामले सामने नहीं आ रहे हैं।
जिसके चलते दूसरी लहर की तरह रेमडेसिविर इंजेक्शन, एस्ट्रॉयड आदि की जरूरत नहीं पड़ रही हैं। मरीज बुखार की दवा पैरासिटामोल, विटामिन सी आदि डॉक्टर की सलाह पर लेकर रिकवर कर रहे हैं। जिसके चलते दवाओं की डिमांड बढ़ गई है। फुटकर विक्रेताओं का कहना है कि इस बार मांग में उछाल है लेकिन दवाओं के दाम नहीं बढ़े हैं। जिससे मरीजों को थोड़ी राहत है।
बता दें कि उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के साथ ही मरने वालों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। मंगलवार को राज्य में कोरोना के 4482 नए मरीज मिले और छह संक्रमितों की मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार मंगलवार को राजधानी देहरादून में 1648 नए मरीज मिले। सके अलावा अल्मोड़ा में 207, बागेश्वर में 81, चमोली में 202, चम्पावत में 104, हरिद्वार में 582, नैनीताल में 644, पौड़ी में 270, पिथौरागढ़ में 30, रुद्रप्रयाग में 75, टिहरी गढ़वाल में 157, यूएस नगर में 398 और उत्तरकाशी में 45 नए मरीज मिले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share