जोशीमठ में सरकारी मशीनरी सुस्त ढंग से कार्य कर रही : राजा बहुगुणा

 जोशीमठ में सरकारी मशीनरी सुस्त ढंग से कार्य कर रही : राजा बहुगुणा

चमोली। भाकपा (माले) की राज्य कमेटी की टीम ने राज्य सचिव राजा बहुगुणा के नेतृत्व में जोशीमठ के आपदा ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा किया और जोशीमठ की जनता के साथ एकजुटता जाहिर की। पत्रकार वार्ता में भाकपा (माले) राज्य सचिव राजा बहुगुणा ने जोशीमठ आपदा से निपटने के के लिए सरकार द्वारा किए जार अभी तक के कार्यों को नाकाफी बताया। उन्होंने कहा कि सरकारी मशीनरी सुस्त ढंग से कार्य कर रही है। लोग ठंड में होटलों में अपना जीवन काटने को मजबूर हैं। सरकार वास्तविक आंकड़ों को तक छिपाने में लगी है। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री से लेकर उनके मंत्री कह रहे हैं की पीएमओ जोशीमठ की आपदा में नजर रखे हुए है, पीएमओ ने इन 22 दिनों में किया क्या प्रदेश सरकार यह भी बताए। उन्होंने कहा कि जोशीमठ त्रासदी के लिए एनटीपीसी एवं बाईपास प्रत्यक्ष जिम्मेदार है लेकिन सरकार इन दोनों को बचाने में लगी है। भाकपा माले के गढ़वाल सचिव इन्द्रेश मैखुरी ने कहा कि सरकार जल्द लोगों के मकानों एवं भूमि के बदले दिया जाने वाले मुआवजा राशि को लिखित में दे। यह भी बताये कि लोगों का कहां, कैसा व कब तक विस्थापन हो रहा है। उन्होंने कहा कि यह कहा जाना गलत है कि जोशीमठ बचाओ संघर्ष समिति का आन्दोलन कम्यूनिस्ट पार्टी का आन्दोलन है। कहा कि उनकी पार्टी मात्र जोशीमठ के प्रभावित लोगों एवं संघर्ष समिति को समर्थन दे रही है। अन्य पार्टियों को भी इस जन आन्दोलन को समर्थन देना चाहिए। कहा कि एक वर्ष ही जोशीमठ नगर में दरारें आनी शुरू हो गई थी व उस समय के प्रभावितों ने प्रशासन के समाने कई बार ज्ञापन दिया, लेकिन प्रशासन की मशीनरी सोई रही। अब उन्हीं संवेदनहीन अधिकारियों को लोगों को सुरक्षित करने व इस त्रासदी से निपटने की जिम्मेदारी दी है जो बहुत ही निन्दनीय है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में भाकपा (माले) के वरिष्ठ नेता गिरिजा पाठक, जोशीमठ बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक और भाकपा माले राज्य कमेटी सदस्य अतुल सती और डा. कैलाश पाण्डेय भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share