गंगा तट, पूर्णानंद घाट पर गणतंत्र दिवस समारोह धूमधाम से मनाया

 गंगा तट, पूर्णानंद घाट पर गणतंत्र दिवस समारोह धूमधाम से मनाया

गंगा तट, पूर्णानंद घाट पर गणतंत्र दिवस समारोह धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर छात्रों ने गंगा के पावन तट पर एक साथ राष्ट्रगान किया एवं योग के माध्यम से सबके स्वस्थ, प्रसन्न, निरोग एवं संपन्न रहने की प्रार्थना की। हालांकि कोरोना संक्रमण व अचार संहिता के कारण समारोह का आयोजन बड़े स्तर पर नहीं किया जा सका। ऋषिकेश गंगा आरती ट्रस्ट की प्रबंधक व भाजपा की वरिष्ठ नेता सुशीला सेमवाल व योगा धरनेंद्र  गुरुकुलम के अध्यक्ष स्वामी ईश्वरानंद ने ध्वजारोहण किया और गणतंत्र दिवस के महत्व के बारे में जानकारी दी। साथ ही देश के लिए अपना सबकुछ बलिदान करने वाले शहीदों को नमन किया। सुशीला सेमवाल नें कहा कि आज के दिन 1950 में भारत का संविधान लागू हुआ था और भारत एक लोकतांत्रिक देश बना था। भारत को विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र होने का गौरव भी प्राप्त है। उन्होंने कहा कि भारत देश में संविधान की ओर से नागरिकों को कुछ मूल अधिकार दिए गए है जो उन्हें समाज में सिर उठाकर जीने का अधिकार देते हैं और आत्मनिर्भर बनाते हैं। उन्होंने कहा कि अधिकार के साथ सभी नागरिकों के कर्तव्य भी जुड़े हैं और हम सबको सजग रूप से इनका वहन करना चाहिए।
इस अवसर पर तनु वर्मा, रोशन विवके, सत्यनारायण, परी, नंदिनी, मालती, रोशन, राहुल, मोहित आदि ने भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share