नाराजग कांग्रेसियों का भाजपा के खिलाफ ‘मौन उपवास’

 नाराजग कांग्रेसियों का भाजपा के खिलाफ ‘मौन उपवास’

हल्द्वानी। प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर बुधवार को कांग्रेस ने स्वराज आश्रम में भाजपा सरकार के खिलाफ मौन उपवास रखा। पूर्व सीएम हरीश रावत की मौजूदगी में हुए कार्यक्रम में भाजपा पर कांग्रेस की शंखनाद जनसभा में व्यवधान डालने और सरकारी तंत्र के गलत इस्तेमाल करने का आरोप लगाया गया।
15 मिनट तक मौन उपवास करने के बाद कांग्रेसियों ने भाजपा के खिलाफ नारेबाजी भी की। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य ने कहा कि जिस तरह से भाजपा सरकार द्वारा कांग्रेस के प्रस्तावित कार्यक्रम की व्यापकता को भांपते हुए एक षड्यंत्र के तहत मुख्यमंत्री का कार्यक्रम लगाया, उससे लगता है कि सरकार समझ चुकी है कि पूरे राज्य में जनता बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, कुशासन आदि से दुखी है। जनता अब सरकार को उखाड़ फेंकने का मन बना चुकी है। यह शंखनाद जनसभा भाजपा के ताबूत में आखिरी कील होगी। महानगर अध्यक्ष राहुल छिमवाल, जिलाध्यक्ष सतीश नैनवाल, पब्लिसिटी कमेटी के अध्यक्ष सुमित हृदयेश, प्रदेश प्रवक्ता दीपक बल्यूटिया, पूर्व मंत्री हरीश दुर्गापाल, प्रदेश उपाध्यक्ष हेमंत सिंह बगड्वाल, एआईसीसी मीडिया प्रभारी जरिता लेतफलांग, पीसीसी एनबी गुणवंत, हुकम सिंह कुंवर, संध्या डालाकोटी, शशि वर्मा, महानगर उपाध्यक्ष गोविंद बगड़वाल ने कहा कि भाजपा सरकार डरी और सहमी सरकार है। मौन उपवास करने वालों में प्रदेश सचिव संदीप भैसोड़ा, सतनाम सिंह, सविता गुरुरानी, मधु सांगुड़ी, शोभा बिष्ट, नीमा भट्ट, पुष्पा नेगी, कनक जीना, प्रदेश सचिव महेश भट्ट, प्रयाग दत्त भट्ट, खजान पांडे, हर्षवर्धन पांडे, गिरीश पांडे, भोला भट्ट, जगमोहन सिंह चिल्वाल, सालेम जमीन, नेता रेहान मियां, अरमान, मोहन सनवाल, रोहित भट्ट, ताहिर हुसैन, रमेश कोठारी, महेश आनंद, रेनू तोमर, अनीता बिष्ट, प्रदीप बिष्ट, गिरधर बम आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share