बुआ ने ही गायब कर दी भतीजी, पुलिस ने किया बरामद

 बुआ ने ही गायब कर दी भतीजी, पुलिस ने किया बरामद

डोईवाला। डोईवाला के गांव खता मारखम ग्रांट से लापता 16 वर्षीय नाबालिग लड़की को पुलिस ने बरामद कर लिया है। लड़की के गायब होने में उसकी बुआ समेत तीन महिलाओं की भूमिका पाई गई। फिलहाल, तीनों को पुलिस ने गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि पिटाई से तंग आकर वो अपनी बुआ के घर चली गई थी। बुआ ने उसे अपनी दून रहने वाली सहेलियों के पास भेज दिया था। पुलिस का ये भी कहना है कि वे उसे बेचने की फिराक में थे।
दरअसल, किशोरी नौ अक्टूबर को सुबह चार बजे के बाद से ही घर से लापता हो गई थी। इसके बाद उसके स्वजनों ने डोईवाला कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। पुलिस मामले की जांच कर रही थी। पुलिस के साथ एसओजी की टीम भी लड़की को ढूंढने में लगी हुई थी। इस बीच टीम ने मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया। साथ ही उसे उसकी बुआ के घर से बरामद कर लिया।
प्रभारी निरीक्षक राजेंद्र सिंह रावत ने बताया की लड़की के गायब होने में उसकी बुआ समेत तीन महिलाओं की भूमिका पाई गई है। लड़की घर में मारपीट होने की वजह से अपनी बुआ के पास चली गई थी। जैसे ही पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया तो महिला ने उसे अपनी देहरादून स्थित सहेलियों के घर भेज दिया था। इस बीच जब उन्हें पता चला कि मामला पुलिस तक पहुंचा है और मुकदमा दर्ज किया गया हैं तो उन्होंने गुरुवार को लड़की को उसकी बुआ के घर वापस भेज दिया।
मामले में कमलेश पत्नी जगदीश शास्त्री नगर वसंत विहार देहरादून, विमलेश पत्नी सतीश शास्त्री नगर वसंत विहार देहरादून ( दोनों बहनें है) के साथ ही लड़की की बुआ सविता पत्नी बाबूराम ग्राम खता रोड मारखम ग्रांट को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि ये बात भी सामने आ रही है कि विमलेश और कमलेश की मंशा इस लड़की को पैसा लेकर बेचने की थी, लेकिन पुलिस की सक्रियता के चलते ये अपने मंसूबों पर कामयाब नहीं हो पाई।
पुलिस ने आरोपितों पर संबंधित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है व आरोपियों कोर्ट में पेश किया जा रहा है। पुलिस टीम में वरिष्ठ उपनिरीक्षक राज विक्रम पवार, उप निरीक्षक अनीता बिष्ट, कांस्टेबल नीरज, हंसराज, एसओजी से सोनी, नवनीत आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share