डीएम की अध्यक्षता में सहकारिता विभाग के अधिकारियों की समीक्षा बैठक सम्पन्न

 डीएम की अध्यक्षता में सहकारिता विभाग के अधिकारियों की समीक्षा बैठक सम्पन्न

रूद्रप्रयाग। जनपद के कृषकों को लघु धान्य फसलों की सही कीमत दिलाए जाने सहित आदान सहायता दिलाने, खरीद की व्यवस्था, प्रोसेसिंग और विशेषज्ञों के परामर्श का लाभ दिलाने आदि को लेकर जिलाधिकारी मनुज गोयल ने सहकारिता विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। जिला कार्यालय सभागार कक्ष में आयोजित बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने बताया कि राज्य की शीर्ष सहकारी संस्था सहकारी संघ लि. द्वारा सहाकारी समितियों के माध्यम से जनपद के कृषकों से मंडुवा, झंगोरा व अन्य उत्पाद का क्रय कर उनको उनकी उपज का उचित मूल्य प्रदान करने के उद्देश्य को लेकर सहकारिता विभाग को जरूरी निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि विभागीय स्तर से जनपद के अधिक से अधिक कृषकों को योजना की जानकारी हेतु निर्देशित किया गया है, ताकि कृषक अपने उत्पाद मंडुवा, झंगोरा, सोयाबीन, चैलाई, राजमा आदि का विक्रय कर उचित मूल्य प्राप्त कर सकें। बैठक के दौरान सहकारिता विभाग के अपर जिला सहकारी अधिकारी विजय नेगी व लक्ष्मण बुटोला ने बताया कि मंडुवा, झंगोरा व अन्य उत्पाद पोषण से भरपूर हैं जिस कारण इनकी बाजारों में मांग भी काफी है। लेकिन पूर्व में इनका समर्थन मूल्य तय न होने के साथ ही खरीद की कोई व्यवस्था नहीं थी। इसको लेकर विभागीय स्तर पर मिलेट मिशन योजना फसलों की पैदावार बढ़ाने तथा बाजारों तक पहुंचाने की एक पहल है। ताकि कृषकों को अधिकाधिक लाभान्वित किया जा सके। बताया कि मिलेट मिशन योजना के तहत विकास खंड ऊखीमठ व जखोली में तीन-तीन समितियां नामित की गई हैं। जबकि अगस्त्यमुनि विकास खंड के अंतर्गत चार समितियों का गठन किया जाएगा। जिलाधिकारी ने सहकारिता के अंतर्गत समितियों को उनसे संबंधित कृषकों को योजना की जानकारी व विचैलियों से बचने हेतु जागरुक करने के निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share